page contents INCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME

INCOME TAX KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME

INCOME TAX KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME

dosto income tax ka Naam lete hi bhay ka mahol ban jata hai. aaj main “income tax (आयकर ) ki step by step jankaari hindi me” batane wala hun. income tax kya hai ? ham jo bhi income karte hain. vah sarkar ke dwara banaye huye kanoon ya slab me aati hai to vah income, income tax ke dayre me aati hai. uspar lagne wale tax Ko income tax kaha jata hai. aaj ham “income tax (आयकर ) ki step by step jankari hindi me” denewala hun.

इनकम टैक्स मे DIRECT TAX से इनकम कैसे होती है।

income tax direct aur indirect dono hi shreni me aata hai. logo ki income se milne wali rashi Ko direct tax kaha jata hai. ise pratyaksh kar bhi kaha jata hai.

इनकम टैक्स मे INDIRECT TAX से इनकम कैसे होती है।

kisi bhi vetan bhogi ya business ki income ke alava milnewali rashi Ko indirect tax kaha jata hai.

INCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME

दोस्तों आप हर साल इनकम टैक्स भरते है तो आपको मालूम ही होगा हर साल हमे किन किन प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। साल में करीब दो बार एडवांस टैक्स भरना पड़ता है। उसके बाद साल के अंत में पुरी इनकम का ब्योरा देना पडता है। फिर हमे इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल करना पड़ता है। तब जाकर कंही छूटकारा मिलता है। इन सब चीजों के अलावा हम और भी कुछ सोचते है। कि कैसे इनकम टैक्स को कम किया जा सके। हमे कंहा कंहा सेविंग्स करनी चाहिए जिससे भविष्य में अच्छा रिटर्न्स मिल सके। इन सभी बातों की चर्चा इस आर्टिकल में करेंगे। दोस्तों इनकम टैक्स देश का सबसे बड़ा टैक्स है। इससे हमें कतई घबराना नहीं चाहिये।

INCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME

इनकम टैक्स सेविंग्स कैसे करे

जब हINCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME\ndosto income tax ka Naam lete hi bhay ka mahol ban jata hai. aaj main \”income tax (आयकर ) ki step by step jankaari hindi me\” batane wala hun. income tax kya hai ? ham jo bhi income karte hain. vah sarkar ke dwara banaye huye kanoon ya slab me aati hai to vah income, income tax ke dayre me aati hai. uspar lagne wale tax Ko income tax kaha jata hai. aaj ham \”income tax (आयकर ) ki step by step jankari hindi me\” denewala hun.\nइनकम टैक्स मे DIRECT TAX से इनकम कैसे होती है।\nincome tax direct aur indirect dono hi shreni me aata hai. logo ki income se milne wali rashi Ko direct tax kaha jata hai. ise pratyaksh kar bhi kaha jata hai.\nइनकम टैक्स मे INDIRECT TAX से इनकम कैसे होती है।\nkisi bhi vetan bhogi ya business ki income ke alava milnewali rashi Ko indirect tax kaha jata hai.\nINCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME\nदोस्तों आप हर साल इनकम टैक्स भरते है तो आपको मालूम ही होगा हर साल हमे किन किन प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। साल में करीब दो बार एडवांस टैक्स भरना पड़ता है। उसके बाद साल के अंत में पुरी इनकम का ब्योरा देना पडता है। फिर हमे इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल करना पड़ता है। तब जाकर कंही छूटकारा मिलता है। इन सब चीजों के अलावा हम और भी कुछ सोचते है। कि कैसे इनकम टैक्स को कम किया जा सके। हमे कंहा कंहा सेविंग्स करनी चाहिए जिससे भविष्य में अच्छा रिटर्न्स मिल सके। इन सभी बातों की चर्चा इस आर्टिकल में करेंगे। दोस्तों इनकम टैक्स देश का सबसे बड़ा टैक्स है। इससे हमें कतई घबराना नहीं चाहिये।\n\nइनकम टैक्स सेविंग्स कैसे करे।\nजब हम किसी काम को एक योजना के तहत करते है तो उसका परिणाम सकारात्मक ही आयेगा। दोस्तों यहि बात इनकम टैक्स पर भी लागू पड़ती है। जब टैक्स भरना हर व्यक्ति का कर्तव्य है इस प्रकार कानून के दायरे में रहकर टैक्स की प्लानिंग करना भी हमारा अधिकार है। इनकम टैक्स में 80c, 80ccc, 80ccd में 1,50,000.00 तक का इन्वेस्ट किया जा सकता है। इसके अलावा और भी कई स्कीम है जिसमे आप इन्वेस्ट करके 1.5 lacs तक का इन्वेस्ट कर सकते है।इसके अलावा LIC, EPFO, PPF, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट, जीवन बीमा (inssurance) टयूशन फीस (2 child), स्कूल फीस, इत्यादि। इन सभी स्कीमों में इन्वेस्ट कर के आप 1,50,000/- तक कि payable राशि पर टैक्स बचा सकते है।\nइनकम टैक्स विभाग की आय के कौन कोन से श्रोत है।\nइनकम टैक्स की आय के मुख्य पांच या छह श्रोत बताये जाते है।\n(1) सैलरी से आय ( वेतन से आय )\n(2) हाउसिंग प्रोपर्टीज से आय ( घर दूकान से आय )\n(3) बिज़नेस से आय ( व्यापार से आय )\n(4) इनकम फ्रॉम कैपिटल गेन (कैपिटल गेन )\n(5 ) इनकम फ्रॉम other सोर्स (अन्य स्रोत से आय )\nउपरोक्त पांचों आय में सभी श्रोतों की आय समिलित होती है। इन सभी आय से बचने के प्रावधान बने है।\nआप lic, ppf, nsc, etc. बहुत सारी स्कीम बनि है जिसमें आप इनवेस्ट करके अपना टैक्स बचा सकते है।\nINCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME\nयदि आपको इसमे कोई दिक्कत आति है तो आप अपने चार्टर्ड अकाउंटेंट , वकील या फिर अपने अकाउंटेंट से सलाह ले सकते है। असेसमेंट year 2018-2019 फाइनेंसियल year 2017-2018 का इनकम टैक्स स्लैब इस प्रकार से लागू होने जा रहा है। जिसके निर्देश सरकार पहले हि दे चुकि है।इसलिए \”इनकम टैक्स (आयकर ) कि स्टेप बाई स्टेप जानकारी हिंदी में\” निम्न प्रकार से है। जिसे आप ध्यान से पढ़े, उसे समझे और फिर करें।\nइनकम टैक्स स्लैब 2018-2019 (A. Y.)\n60 साल से कम आयु के लिए इनकम टैक्स चार्ट इस प्रकार से है। सरकार के नए कानून के हिसाब अब 3,00,000 rs. तक कि राशि पर कोई टैक्स नही भरना है। 2,00,000 से लेकर 5,00,000 तक कि राशि पर 5% टैक्स लागु किया गया है। 5,00,000 से लेकर 10,00,000 तक कि राशि पर पर 20% टैक्स है। और 10,00,000 lacs के ऊपर की राशि पर 30% टैक्स लागू किया गया है। वर्तमान वर्ष 2017 -2018 (A. Y.) का इनकम टैक्स स्लैब इस प्रकार से था।\nइनकम टैक्स स्लैब 2017-2018 (A. Y.)\n60 साल से कम आयु के लिए इनकम टैक्स चार्ट इस प्रकार से था। 2,50,000 तक टैक्स फ्री, 2,50,000 से लेकर 5,00,000 तक 10% टैक्स, 5,00,000 से लेकर 10,00,000 तक 20% टैक्स एवम 10,00,000 से ऊपर के टैक्स पर 30% तक का टैक्स लागू था।\nइनकम टैक्स स्लैब 2018-2019 (A. Y.) चार्ट्स\n( 1 ) 60 साल से कम आयु के लिए इनकम टैक्स स्लैब\nइनकम टैक्स स्लैब इनकम टैक्स %\n3,00,000 rs. तक आय 0%\n \n2,00,000 से ज्यादा 5%\nऔर 5,00,000 से कम आय\n \n5,00,000 से ज्यादा और 20%\n10,00,000 से कम आय\n \n10,00,000 से ज्यादा आय 30%\n \n( 2 ) 60 साल से ज्यादा आयु के लिए इनकम टैक्स स्लैब\nइनकम टैक्स स्लैब इनकम टैक्स %\n3,00,000 rs. तक आय 0%\n \n3,00,000 से ज्यादा 5%\nऔर 5,00,000 से कम आय\n \n5,00,000 से ज्यादा और 20%\n10,00,000 से कम आय\n \n10,00,000 से ज्यादा आय 30%\nइसके अलावा 50,00,000 से 1करोड़ तक कि इनकम पर 10% सरचार्ज एवं 1 करोड़ से ज्यादा इनकम वालों से 15% सरचार्ज वसूल किया जाएगा। ये 60 साल से कम और 60 साल से ज्यादा दोनो ही स्लैब में सामिल है।\n( 3 ) 80 साल से ज्याद आयु के लिए इनकम टैक्स स्लैब\n5,00,000 तक कि इनकम पर टैक्स free, 5,00,000 से 10,00,000 तक कि इनकम पर 20% टैक्स, 10,00,000 से ज्यादा कि इनकम पर 30% टैक्स सामिल है। इसके अलावा 50,00,000 से 1करोड़ तक कि इनकम पर 10% सरचार्ज एवं 1 करोड़ से ज्यादा इनकम वालों से 15% सरचार्ज लागू है।\nदोस्तो बस आज के लिए इतना हि अगर ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो share जरूर करना। लाइक एंड सब्सक्राइब भी कीजिये जिससे आगे आने वाली पोस्ट से आप वंचित न रहे। \nइन पोस्ट को जरूर पढ़ें\nWhat is tds- tds kya hai in hindi\nGST kya hai\nINCOME TAX KI HINDI ME INFORMATION\nधन्यवाद दोस्तो\nधर्मेश राजपूत ( एडमिन )म किसी काम को एक योजना के तहत करते है तो उसका परिणाम सकारात्मक ही आयेगा। दोस्तों यहि बात इनकम टैक्स पर भी लागू पड़ती है। जब टैक्स भरना हर व्यक्ति का कर्तव्य है इस प्रकार कानून के दायरे में रहकर टैक्स की प्लानिंग करना भी हमारा अधिकार है। इनकम टैक्स में 80c, 80ccc, 80ccd में 1,50,000.00 तक का इन्वेस्ट किया जा सकता है। इसके अलावा और भी कई स्कीम है जिसमे आप इन्वेस्ट करके 1.5 lacs तक का इन्वेस्ट कर सकते है।इसके अलावा LIC, EPFO, PPF, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट, जीवन बीमा (inssurance) टयूशन फीस (2 child), स्कूल फीस, इत्यादि। इन सभी स्कीमों में इन्वेस्ट कर के आप 1,50,000/- तक कि payable राशि पर टैक्स बचा सकते है।

इनकम टैक्स विभाग की आय के कौन कोन से श्रोत है।

इनकम टैक्स की आय के मुख्य पांच या छह श्रोत बताये जाते है।

(1) सैलरी से आय ( वेतन से आय )

(2) हाउसिंग प्रोपर्टीज से आय ( घर दूकान से आय )

(3) बिज़नेस से आय ( व्यापार से आय )

(4) इनकम फ्रॉम कैपिटल गेन (कैपिटल गेन )

(5 ) इनकम फ्रॉम other सोर्स (अन्य स्रोत से आय )

उपरोक्त पांचों आय में सभी श्रोतों की आय समिलित होती है। इन सभी आय से बचने के प्रावधान बने है।

आप lic, ppf, nsc, etc. बहुत सारी स्कीम बनि है जिसमें आप इनवेस्ट करके अपना टैक्स बचा सकते है।

INCOME TAX ( आयकर ) KI STEP BY STEP JANKAARI HINDI ME

यदि आपको इसमे कोई दिक्कत आति है तो आप अपने चार्टर्ड अकाउंटेंट , वकील या फिर अपने अकाउंटेंट से सलाह ले सकते है। असेसमेंट year 2018-2019 फाइनेंसियल year 2017-2018 का इनकम टैक्स स्लैब इस प्रकार से लागू होने जा रहा है। जिसके निर्देश सरकार पहले हि दे चुकि है।इसलिए “इनकम टैक्स (आयकर ) कि स्टेप बाई स्टेप जानकारी हिंदी में” निम्न प्रकार से है। जिसे आप ध्यान से पढ़े, उसे समझे और फिर करें।

इनकम टैक्स स्लैब 2018-2019 (A. Y.)

60 साल से कम आयु के लिए इनकम टैक्स चार्ट इस प्रकार से है। सरकार के नए कानून के हिसाब अब 3,00,000 rs. तक कि राशि पर कोई टैक्स नही भरना है। 2,00,000 से लेकर 5,00,000 तक कि राशि पर 5% टैक्स लागु किया गया है। 5,00,000 से लेकर 10,00,000 तक कि राशि पर पर 20% टैक्स है। और 10,00,000 lacs के ऊपर की राशि पर 30% टैक्स लागू किया गया है। वर्तमान वर्ष 2017 -2018 (A. Y.) का इनकम टैक्स स्लैब इस प्रकार से था।

इनकम टैक्स स्लैब 2017-2018 (A. Y.)

60 साल से कम आयु के लिए इनकम टैक्स चार्ट इस प्रकार से था। 2,50,000 तक टैक्स फ्री, 2,50,000 से लेकर 5,00,000 तक 10% टैक्स, 5,00,000 से लेकर 10,00,000 तक 20% टैक्स एवम 10,00,000 से ऊपर के टैक्स पर 30% तक का टैक्स लागू था।

इनकम टैक्स स्लैब 2018-2019 (A. Y.) चार्ट्स

( 1 ) 60 साल से कम आयु के लिए इनकम टैक्स स्लैब

इनकम टैक्स स्लैब इनकम टैक्स %

3,00,000 rs. तक आय 0%

2,00,000 से ज्यादा 5%

और 5,00,000 से कम आय

5,00,000 से ज्यादा और 20%

10,00,000 से कम आय

10,00,000 से ज्यादा आय 30%

( 2 ) 60 साल से ज्यादा आयु के लिए इनकम टैक्स स्लैब

इनकम टैक्स स्लैब इनकम टैक्स %

3,00,000 rs. तक आय 0%

3,00,000 से ज्यादा 5%

और 5,00,000 से कम आय

5,00,000 से ज्यादा और 20%

10,00,000 से कम आय

10,00,000 से ज्यादा आय 30%

इसके अलावा 50,00,000 से 1करोड़ तक कि इनकम पर 10% सरचार्ज एवं 1 करोड़ से ज्यादा इनकम वालों से 15% सरचार्ज वसूल किया जाएगा। ये 60 साल से कम और 60 साल से ज्यादा दोनो ही स्लैब में सामिल है।

( 3 ) 80 साल से ज्याद आयु के लिए इनकम टैक्स स्लैब

5,00,000 तक कि इनकम पर टैक्स free, 5,00,000 से 10,00,000 तक कि इनकम पर 20% टैक्स, 10,00,000 से ज्यादा कि इनकम पर 30% टैक्स सामिल है। इसके अलावा 50,00,000 से 1करोड़ तक कि इनकम पर 10% सरचार्ज एवं 1 करोड़ से ज्यादा इनकम वालों से 15% सरचार्ज लागू है।

दोस्तो बस आज के लिए इतना हि अगर ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो share जरूर करना। लाइक एंड सब्सक्राइब भी कीजिये जिससे आगे आने वाली पोस्ट से आप वंचित न रहे।

इन पोस्ट को जरूर पढ़ें

What is tds- tds kya hai in hindi

GST kya hai

INCOME TAX KI HINDI ME INFORMATION

धन्यवाद दोस्तो

धर्मेश राजपूत ( एडमिन )

3 Comments

Leave a Reply