WORDPRESS IS BETTER THAN BLOGGER STEP BY STEP INFORMATION

WORDPRESS IS BETTER THAN BLOGGER STEP BY STEP INFORMATION

दोस्तों आप यदि एक ब्लॉगर है तो आपको पता ही होगा कि  wordpress is better than blogger  में से कोंन सा प्लेटफॉर्म बेहतर है। कुछ न्यू ब्लॉगर को इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं होता है। अतः आज में wordpress is better than blogger step by step information इस बात को सही साबित कर के दिखाने वाला हुँ। आपको पता ही होगा ब्लॉगर एक फ्री सर्विस है। इस पर ब्लॉग बनाने के लिए कोई होस्टिंग की जरूरत नही पड़ती क्योंकि ब्लॉगर के लिए गूगल फ्री में होस्टिंग प्रोवाइड करता है। आप चाहे तो डोमेन नाम खरीद सकते है। इसी प्रकार देखा जाय तो वर्डप्रेस एक Paid Website hai इसमें आपको होस्टिंग और domain name lena anivarya hai wordpress का फ्री वर्जन भी है। लेकिन वह कुछ काम का नहीं है। इसमें काफी मेहनत करनी पड़ती है तब जाकर भी सही रिजल्ट नहीं आता है।

blogger par free website kaise banaye

WORDPRESS IS BETTER THAN BLOGGER STEP BY STEP INFORMATION

वर्ल्ड में ब्लॉगिंग के लिए बहुत सारे प्लेटफॉर्म है लेकिन आज हम बात करेंगे ब्लॉगर v/s. वर्डप्रेस ( सेल्फ होस्टेड प्लान ) , सेल्फ होस्टेड प्लान का मतलब पैड वेबसाइट से है। ब्लॉगर गूगल का ही एक पार्ट है। उसका मालिकाना अधिकार गूगल के पास रहता है। ब्लॉगर भी एक बहुत बड़ा प्लेटफॉर्म है। शरुवात ज्यादातर लोग ब्लॉगर से करते है। लेकिन कुछ वक्त के साथ वे वर्डप्रेस पर ट्रांसफर हो जाते है। आज भी ब्लॉगर पर बेस्ट ब्लॉग का भंडार है।चलिए अब हम अपने टॉपिक wordpress is better than blogger step by step information पर विचार विमर्श करते है।

1. NECESSITY

वर्डप्रेसब्लॉगर को बनाने के लिए क्या क्या चीजों की जरूरत पड़ती है।

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाने के लिए सबसे पहले डोमेन नाम purchage करना पड़ता है जो आप किसी भी कंपनी से खरीद सकते है। डोमेन नाम परचेज आप godaddy, host gator, जैसे किसी भी कंपनी से खरीद सकते है। मैं आपको go daddy से purchase करने के लिए के kahunga. क्यों कि go daddy पर सबसे सस्ता डोमैन मिलता है। डोमैन नाम खरीदने के बाद आपको होस्टिंग की जरूरत पड़ती है होस्टिंग आप go Daddy, होस्ट गैटर,ब्लू होस्ट etc. से खरीद सेेकटे है। मेरे हिसाब से आपको ब्लू होस्ट या फिर होस्ट गैटर से होस्टिंग खरीदनी चाहिए। इनकी होस्टिंग में स्पीड अछि आती है। डोमेन नाम और होस्टिंग खरीदने के बाद आप वर्डप्रेस को जहां से होस्टिंग ली है उस होस्टिंग में इंस्टॉल करदे। इस प्रकार वर्डप्रेस वेबसाइट बनकर तैयार हो जाती है। अगर आपने अभी तक वर्डप्रेस वेबसाइट नहीं बनाई है तो यंहा क्लिक करे।

apni website ka seo kaise kare

ब्लॉगर:- ब्लॉगर या ब्लॉगस्पोट पर वेबसाइट बनाने के लिए कोई भी होस्टिंग की जरूरत नहीं होती। ब्लॉगर को गूगल फ्री में होस्टिंग प्रोवाइड करता है। आप चाहे तो डोमैन name खरीद सकते हो अन्यथा कोई जरूरी नहीं है। आप ब्लॉगर पर वेबसाइट बनाने के लिए गूगल का इस्तेमाल कर सकते हैं। गूगल में जाकर सीधे सीधे ब्लॉगर पर वेबसाइट बना सकते हैं। अगर आपने ब्लॉगर पर अभी तक वेबसाइट नहीं बनाई है तो यंहा क्लिक करें।

2. OWNER SHIP( मालिक)

ब्लॉगर:- ब्लॉगर पर हमारा कोई अधिकार नहीं होता है। इसका समस्त अधिकार गूगल के पास रहता है। गूगल जब चाहे इस सर्विस को बंध कर सकता है। ब्लॉगर को गूगल ने एक अन्य कंपनी (प्यार लैब्स) से करीब 15-20 साल पहले खरीदा था। ब्लॉगर का डेटा गूगल के पास स्टोर रहता है। जो वह किसी भी समय डिलिट कर सकता है। इसके लिए हम कोई claim या रिपोर्ट दर्ज नही करवा सकते।

website ko hackers se kaise safe rakhe

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस (self hosted wp) में आपको अपना डेटा वर्डप्रेस की होस्टिंग में इंस्टॉल करना पड़ता है। वर्डप्रेस के आप खुद मालिक है आप जब चाहो अपना डेटा किसी दूसरी होस्टिंग में ट्रांसफर कर सकते हैं। वर्डप्रेस होस्टिंग हमे खरीदनी पड़ती है। इसलिए उसके मालिक भी हैम है।

3. CONTROL (नियंत्रण)

ब्लॉगर:- ब्लॉगर पर कुछ आंशिक नियंत्रण रह पाता है। ब्लॉगर में कोई खास फ़ीचर नहीं है। फिक्स थीम जितनी होती है। उनका ही प्रयोग किया जा सकता है। इसके अलावा हम कुछ ज्यादा फेरफार नहीं कर सकते है।

go daddy par two step varification  kaise add kare

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस में बहुत से फ़ीचर पाए जाते हैं। हम अपने ब्लॉग को अपने हिसाब से ढाल सकते है। वर्डप्रेस में बहुत सारी PLUGIN होने के कारण हम अपने ब्लॉग को सुंदर व SEO फ्रेंडली बना सकते है। चूंकि वर्डप्रेस एक पैड VERSION है। इसलिए हमें जो चाहे वह सुविधा मिल जाती है।

4. सुंदरता व look

ब्लॉगर:- सुंदरता व लुक की बात करे तो ब्लॉगर में ऐसे कोई खास फ़ीचर नहीं है। ब्लॉगर में कुछ टेम्लेट all ready दिए गए हैं। पर वे इतने सुंदर नहीं होते और न ही कुछ ज्यादा seo फ्रेंडली होते है। इसमें आप फ़ीचर को अपने हिसाब से काम नही ले सकते। कुछ कंपनी से प्रीमियम टेम्पलेट खरीद सकते हैं। पर उसमे कोई मजा नहीं आता। उसमे प्रीमियम वाली फीलिंग मशसुस नहीं कि जा सकती। केवल मन को जबरदस्ती समझना पड़ता है।

cash karo se online paisa kaise kamaye

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस ब्लॉग या वेबसाइट में असंख्य टेम्पलेट, थीम , प्लगइन होने के कारण ब्लॉग को सुंदर बनाया जासकता है। उसका लुक मन चाह दे सकते है। वर्डप्रेस में थीम seo फ्रेंडली भी होती है। वर्डप्रेस को कोई भी आकार दिया जा सकता है। वर्डप्रेस में टेम्लेट,थीम को आसानी से चेंज किया जा सकता है।

5. सिक्योरिटी ( प्राइवेसी)

ब्लॉगर:- सिक्योरिटी व प्राइवेसी की बात की जाय तो ब्लॉगर बहुत ही स्ट्रांग है क्यों कि ब्लॉगर को गूगल होस्ट करता है और गूगल वर्ल्ड की सबसे बड़ी व नंबर one वेबसाइट होने के कारण ब्लॉगर खुद ब खुद सिक्योर हो जाता है। ब्लॉगर को कोई हैकर हैक नही कर सकता है। ब्लॉगर कैसे भी हो सिक्योरिटी में नंबर one है। ब्लॉगर कितनी भी ट्रैफिक हो बखूबी संभाल लेता है। ब्लॉग की स्पीड को बरकरार रखता है।

 

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस भी उतना ही सिक्योर है जितना कि ब्लॉगर। पर वर्डप्रेस की सिक्योरिटी का थोड़ा ध्यान रखना पड़ता है। कुछ हैकर वर्डप्रेस को हैक कर सकते है। वर्डप्रैस में बहुत सी प्लगइन इंस्टॉल होती है जो आपको हैकर्स से बचाती है। वर्डप्रेस में बहुत ही ज्यादा ट्रैफिक हो जाती है तो वह low server के कारण उसे संभाल नही पता है। अतः आपको पॉवरफुल होस्टिंग ही लेनी चाहिए। होस्टिंग अछि होगी तो आपको कभी भी प्रॉब्लम नहीं आएगी।

6. PLATFORM CHANGE ( स्थलांतर)

ब्लॉगर:- ब्लॉगर को एक से दूसरे प्लेटफॉर्म पर चेंज करना इतना आसान नहीं है।जब ब्लॉगर को दूसरे प्लेटफार्म पर चेंज या ट्रांसफर करते है तो उसमें बहोत सी कमिया रह जाती है। हो सकता है उसके विजिटर घट जाय या फिर उसकी स्पीड पर भी फर्क पड सकता है। ब्लॉगर में सर्च इंजिन optomization( seo ) में फर्क आ सकता है। इसलिए ब्लॉगर को दूसरे प्लेटफार्म में ट्रांसफर करने से पहले काफी ध्यान रखना पड़ता है।

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस को एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर आसानी से इंस्टॉल किया जा सकता है। वर्डप्रेस को प्लेटफार्म चेंज करने पर कोई फर्क नहीं पड़ता और न ही उसके seo में फर्क पड़ता है। स्पीड व विडिटर्स में भी कोई चेंज नहीं होता।

7. VERSION UPDATION

ब्लॉगर:- ब्लॉगर में अपडेट होता है पर उससे seo पर कोई असर नही दिखाई पड़ता। ब्लॉगर में नई और पुराने फ़ीचर में न के बराबर अंतर होता है।

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस में updation होता रहता है। उसमें कई नए फ़ीचर add होते रहते है जिनका seo पर पॉजिटिव असर दिखाई पड़ता है।

8. सर्च इंजन optomization ( SEO )

ब्लॉगर:- SEO के लिहाज से ब्लॉगर अभी थोड़ा थोड़ा SEO फ्रेंडली हुआ है। लेकिन इतना भी नहीं जो वर्डप्रेस को टक्कर दे सके। ब्लॉगर वर्डप्रेस की अपेक्षा आंशिक SEO फ्रेंडली है। ब्लॉगर की रैंकिंग करने की क्षमता भी वर्डप्रेस से बहुत ही कम है।

वर्डप्रेस:- वर्डप्रेस को सभी वेबसाइट में से सबसे अधिक seo friendly माना जाता है। वर्डप्रेस में ऐसी बहुत सी प्लगइन जो वर्डप्रेस को seo friendy बनाती है। wordpress वेबसाइट की ranking high होती है। जो जल्दी इंडेक्स होने में मदद करती है।

WORDPRESS IS BETTER THAN BLOGGER STEP BY STEP INFORMATION

दोस्तो मैंने शरुवात में ही कहा था कि WORDPRESS IS BETTER THAN BLOGGER ये मैंने आपको प्रूव करके दिखया है। आपने ये पूरा ब्लॉग पढ़ा ही होगा। मैंने जो 8 पॉइंट बताये है इसमें अगर आपको कोई कंफ्यूशन है तो आप मुझे कमेंट कर सकते है। मेरे हिसाब से ब्लॉगर v/.s वर्डप्रेस दोनो में से वर्डप्रेस ही बेस्ट है।वर्डप्रेस से आप किसी भी वेबसाइट का मुकाबला नहीं कर सकते। वर्डप्रेस ब्लॉगर ही नहीं दुनिया की सबसे बेस्ट वेबसाइटों में नंबर one है।

लास्ट वर्ड:- मुझे आशा है कि आपको ये आरटीकल अच्छा लगे तो शेयर कीजिये व सब्सक्राइब कीजिये जिससे आपको अगली पोस्ट पढ़ने का मौका मिल सके।

धन्यवाद

DHARMESH RAJPUT (ADMIN)

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *