WEB HOSTING KYA HAI- WEB HOSTING सर्वर क्या है हिंदी में।

WEB HOSTING KYA HAI. WEB HOSTING सर्वर क्या है हिंदी में।

दोस्तों WEB HOSTING का  अर्थ क्या है। WEB HOSTING स्पेस क्या है। WEB HOSTING KYA HAI.यह कैसे काम करता है। आज हम होस्टिंग के बारे में डिटेल main बात करेंगे। आज के इस मॉडर्न युग मे एक वेबसाइट का होना बहुत जसरूरी है। वेबसाइट को बनाना बहुत ही आसान काम है। पर उसे mainntain करना आसान काम नहीं है। वेबसाइट बनाने के लिए डोमैन की जरूरत पड़ती है। इसके अलावा बढ़िया होस्टिंग की भी जरूरत पड़ती है।

WEB HOSTING KI PURI JANKARI HINDI ME. WEB HOSTING KAISE KAM KARTA HAI .

apni website ka seo kaise kare.

पर जो new ब्लॉगर होते हैं उन्हें यह पता नहीं होता कि WEB HOSTING KYA HAI ( What is Web Hosting )  इन सभी कारणों से वह वेब होसटिंग का सही प्लान नहीं चूज कर पाते। और आगे जाकर वेबसाइट में प्रॉब्लम आ जाती है। या फिर वेबसाइट को dawn कर बैठते हैं। इसलिए हमेशा अछि होस्टिंग का इस्तेमाल करें।सबसे सस्ती WEB HOSTING KYA HAI आज हम इसी पर चर्चा करेंगे।

domain kya hai domain purchse kaise kare

WEB HOSTING KYA HAI- WEB HOSTING कैसे काम करता है।

WEB HOSTING KYA HAI (WEB  सर्वर क्या है) वेब होस्टिंग या वेब server  वह स्पेस है जिसके अंदर दुनिया भर की वेबसाइट्स का डेटा स्टोर होता है। वेब होस्टिंग में वेबसाइट के आर्टिकल, पिक्चर, विडियो, theme, इत्यादि स्टोर होते हैं। वेब होस्टिंग में वेबसाइट के डेटा को स्टोर करने के लिए हमे कुछ पैसे pay करने होते है। यूं कंहै तो गलत नहीं होगा कि हम वेबसाइट के समस्त डेटा को स्टोर करने के लिए वेब होस्टिंग को रेंट (भाड़ा) देते हैं। और आज उसी की बदौलत हम दुनिया की किसी भी वेबसाइट को कंही से भी एक्सेस कर सकते हैं। अब आपको पता चल ही गया होगा कि वेब होस्टिंग क्या है और क्यों हमे इसकी आवश्यकता है।

web hosting kya hai

webhosting kya hai -hindi me jankari -वेब होस्टिंग को कैसे और कंहा से purchase करे।

वेब होस्टिंग को किसी भी कंपनी से भी खरीदा जा सकता है। वेब होस्टिंग बेचने वाली बहूत सी कम्पनीज है। जिसमे मुख्यतौर पर होस्टगेटर, ब्लू होस्ट इंडिया, गो डैडी.कॉम, डिजिटल ocean, इत्यादि और भी बहुत सी कम्पनीज है।

website ko hackers se kaise bachaye.

व्हाट इज ध चिपेस्ट वेब होस्टिंग। बेहतरीन WEB HOSTING KYA HAI.

मैं आपसे यही कहूंगा कि जब भी होस्टिंग खरीदे तो सस्ति व टिकाऊ ही खरीदे। होस्टिंग के लिए आप होस्ट गैटर या फिर डिजिटल ocean को सबसे पहले चुने। इनकी होस्टिंग सस्ती व बहूत ही फ़ास्ट स्पीड प्रदान करती है। गो डैडी से होस्टिंग कभी भी न खरीदे। वरना न रो पाओगे और न हीं कभी हंस पाओगे। क्यों कि वंहा में खुद फस चुका हूं। आप ब्लू होस्ट से भी होस्टिंग खरीद सकते हैं। ब्लू होस्ट भी होस्ट गैटर तरह अछि होस्टिंग में गिनी जाती है।

WEB HOSTING KYA HAI. WEB HOSTING सर्वर क्या है हिंदी में।

wordpress par website kaise banaye.

होस्टिंग को purchase करने के लिए आप इनमें से बताई कोई भी होस्टिंग में जाकर सबसे पहले अपना अकाउंट बनालें। और वंहा से एक अच्छा सा प्लान choose कर के होस्टिंग को आसानी से purchase कर सकते हैं। यदि इसमे आपको कोई परोब्लेम हो तो आप मुझे कांटेक्ट कर सकते हैं। दोस्तों अब आपको पता चल ही गया होगा की WEB HOSTING KYA HAI.वेब होस्टिंग अर्थ क्या है ,वेब होस्टिंग स्पेस क्या है, वेब होस्टिंग सर्वर क्या है, वेब होस्टिंग क्या है यह कैसे काम करता है,

go daddy par two steo varification kaise kare.

वेब होस्टिंग खरीदने से पहले किन किन बातों का ध्यान रखें।

वेब होस्टिंग कम्पनीज कोन कोंन सी है। वेब होस्टिंग पंजीकरण क्या है यह आप सिख चुके है। अब हमें यह भी ध्यान रहना चाहिए कि एक अछि होस्टिंग में क्या क्या खासियत होनी चाहिए।

होस्टिंग स्पेस ( डिस्क स्पेस )

डिस्क स्पेस हमारी वेबसाइट को स्टोर करता है। जब वेबसाइट का डेटा ज्यादा होने लगता है। तो डिस्क स्पेस फुल हो जाता है। जिससे आगे चलकर हमारी वेबसाइट dawn होने लगती है। जो वेबसाइट के लिए बहुत बड़ा खतरा है। अतः जब भी होस्टिंग खरीदे डिस्क स्पेस अनलिमिटेड होना चाहिए। जिससे भविष्य में दिक्कत न हो।

BANDWIDTH

एक सेकंड में अपनी वेबसाइट का कितना डेटा एक्सेस कर सकते हैं उसे ही bandwidth कहा जाता है। जब भी कोई हमारी वेबसाइट को एक्सेस कर रहा होता है। तब बैंडविड्थ कुछ डेटा को use करके यूजर को बहुत सी इनफार्मेशन देता है। इसी प्रकार एक से ज्यादा लोग आपकी वेबसाइट को एक्सेस करने लगते हैं तो बैंडविड्थ कम होने की वजह से इनफार्मेशन शेयर नहीं कर पता और धीरे धीरे आपकी website dawn होने लगती है।

अप टाइम

जब तक हमारी वेबसाइट चालू है। या फिर यूँ कहें जब तक वेबसाइट ऑनलाइन होती है उसे अप टाइम कहा जाता है। और जब हमारी वेबसाइट किसी कमी के चलते बंध हो जाती है उसे वेबसाइट का dawn time कहते हैं। दुनिया की सभी कम्पनीज 100% अप टाइम की गारंटी देती है। जो बिल्कुल गलत है।

कस्टमर केअर की सर्विस अछि होनी चाहिए।

कस्टमर केअर सर्विस का बहुत बड़ा रोल होता है। सभी कम्पनीज सर्विस का वादा करती है पर निभाती कुछ ही है। कस्टमर केअर की बात की जाय तो में फर्स्ट रैंक होस्ट गैटर को देना चाहूंगा। होस्टगेटर पर हिंदी में भी बात कर सकते है। बाकी सभी कम्पनीज में इंग्लिश से ही काम चलाना पड़ता है। इसलिए जो अछि सर्विस दे उसी से होस्टिंग खरीदे।

वेब होस्टिंग  चार प्रकार की होति है।

1 शेयर्ड होस्टिंग

2 VPS होस्टिंग

3 DEDICATED होस्टिंग

4 क्लाउड होस्टिंग

शेयर्ड WEB HOSTING KYA HAI

शेयर्ड होस्टिंग में एक ही सर्वर होता है। जिसमे लाखो वेबसाइट का डेटा स्टोर होता है। यह अपने सर्वर को शेयर करती है। मतलब एक ही सर्वर पर लाखों वेबसाइट को होस्ट करती है। इसलिए ही इसे शेयर्ड होस्टिंग के नाम से जाना जाता है। यह और होस्टिंग की तुलना में काफी सस्ती होती है। ज्यादातर new ब्लॉगर ही इसका इस्तेमाल करते है। new ब्लॉगर जब तक कुछ फेमस नहीं हो जाता तब तक इसमे कोई प्रॉब्लम नहीं आता है। जैसे ही कुछ विज़िटर आने लगते हैं तो यह dawn होने लगती है।

website ki traffic kaise badhaye

शेयर्ड वेब होस्टिंग की खूबियां।

1. शेयर्ड होस्टिंग दूसरी होस्टिंग से काफी सस्ती होती है।

2. शेयर्ड होस्टिंग को इस्तेमाल करना बहुत ही आसान काम है।

3. New ब्लॉगर के लिए शेयर्ड होस्टिंग बढ़िया है।

4. इसमे कंट्रोल पैनल को आसानी से हैंडल किया जा सकता है।

शेयर्ड होस्टिंग से होने वाला नुकसान।

blogger par website kaise banaye

1. शेयर्ड होस्टिंग में डिस्क स्पेस, bandwidth, up टाइम, काफी कम होता है।

2. शेयर्ड होस्टिंग कुछ समय के बाद dawn होने लगती है।

3. सिक्योरिटी के मामले में इस होस्टिंग से ज्यादा उम्मीद नही रखनी चाहिए।

4. इस होस्टिंग में सर्वर को शेयर किया जाता है। इसलिए वेबसाइट की स्पीड में कमी आती है।

5. शेयर्ड होस्टिंग में ट्रैफिक में उतार चढ़ाव आते रहते है।

VPS WEB HOSTING KYA HAI ( वर्चुअल प्राइवेट सर्वर )

VPS होस्टिंग वह होती है जिसमे एक ही स्ट्रांग सर्वर को अलग अलग भागों में विभाजित कर दिया जाता है। लेकिन विभाजित करने के बाद भी उसकी क्षमताओं में कोई फर्क नहीं पड़ता है। वह हर बिभाजित भाग में उसके रिसोर्स की कमी नही आने देता है। मतलब हर विभाजित भाग को जितना चाहे बैंडविड्थ, डिस्क स्पेस, अपटाइम उपलब्ध कराता है। उसमें कोई कमी नहीं आती। यह शेयर्ड होस्टिंग की तरह सर्वर को शेयर नहीं करती। बलकी उसके सर्वर को छोटे छोटे हिस्सों में बांट देती है। इसकी इन्ही क्षमताओं के कारण इसे VPS होस्टिंग कहा जाता है। अब में इसे सरल उदाहरण देकर समझता हूं। VPS होस्टिंग एक होटल के कमरे के समान होती है। जैसे एक होटल को कई कमरों में बांटा जाता है। पर प्रत्येक कमरे का ख्याल रखा जाता है। प्रत्येक कमरे को जो सुविधा चाहे वह मिल जाती है। उसके रिसोर्स में कोई कमी नहीं आती है। बस यही VPS होस्टिंग का हाल है।

VPS होस्टिंग की खूबियां

domain authority kya hai 

1. VPS होस्टिंग  बेहतरीन परफोर्मेंस के लिए जानी जाती है।

2. VPS होस्टिंग को अपने हिसाब से सेट उप किया जा सकता है।

3. VPS होस्टिंग को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है।

4. ब्लॉग्गिंग के लिए ये सबसे बेस्ट होस्टिंग मानी जाती है।

5. इसे custmize करना बहुत ही आसान काम है।

6. इस होस्टिंग में अपने मन मुताबिक ये हेल्प करती है।

7. सिक्योरिटी के देखते हुए यह बहुत ही उम्दा परफॉरमेंस देती है।

VPS होस्टिंग से हानियाँ।

1. डेडिकेटेड होस्टिंग की apexa यह कम प्रदर्शन करती है।

2. इसे use करने के लिए अच्छे नॉलेज की जरूरत पड़ती है।

दोस्तो अब आपको पता चल गया होगा कि VPS WEB HOSTING KYA HAI और VPS होस्टिंग के क्या लाभ और क्या नुकसान हैं।

DEDICATED WEB HOSTING KYA HAI. DEDICATED WEB HOSTING सर्वर क्या है हिंदी में।

डेडिकेटेड होस्टिंग  शेयर होस्टिंग से बिल्कुल उल्टी है। डेडिकेटेड होस्टिंग में एक सर्वर में एक ही वेबसाइट का डेटा स्टोर होता है। इसमें एक सर्वर में केवल एक ही वेबसाइट का डेटा स्टोर हो सकता है। इसके अलावा अन्य वेबसाइट को इसमे स्टोर नहीं किया जा सकता। इसकी स्पीड दूसरी सभी वेब होस्टिंग से ज्यादा होती है। मतलब की डेडिकेटेड होस्टिंग का सर्वर सबसे फ़ास्ट होता है। यह होस्टिंग सबसे महंगी भी जानी जाती है। इसका चार्ज केवल एक ही व्यक्ति भरता है। क्यों कि इसे शेयर नही किया जा सकता। इस सर्वर में एक वेबसाइट का एक ही मालिक होता है। जिसे अकेले ही इसका खर्च उठाना पड़ता है।

web hosting kya hai-web server kya hai 

DEDICATED WEB HOSTING KYA HAI. DEDICATED WEB HOSTING सर्वर क्या है हिंदी में।

इस होस्टिंग को उदाहरण से ऐसे समझा जा सकता है। मानलो एक घर है। और उसमें एक ही व्यक्ति निवास करता है। उस घर मे और कोई दूसरा नहिं रह सकता।क्यों कि यह घर उस एक व्यक्ति का ही है। उस घर मे एक ही व्यक्ति का अधिकार रहता है। खुद का घर किसी अन्य को नहीं दिया जा सकता। उस घर की समस्त जिम्मेदारी एक ही व्यक्ति पर निर्भर करती है।  ठीक उसी तरह डेडिकेटेड होस्टिंग वर्क करता है। अब दोस्तों आप समझ ही गए होंगें की DEDICATED WEB HOSTING क्या है डेडिकेटेड होस्टिंंग कैसे वर्क करता है।

DEDICATED होस्टिंग से क्या क्या फायदे है।

1. डेडिकेटेड होस्टिंग दुनिया की सबसे फ़ास्ट होस्टिंग है।

2. Dedicated होस्टिंग का एक मात्र स्वामी होता है।

3. अन्य होस्टिंग की बजाय इसमे ज्यादा रिसोर्स मिलता है।

4. सिक्योरिटी के मामले में यह नंबर one पर आती है।

5. इसके सर्वर को कन्ट्रोल करने में हेल्प मिलती रहती है।

6. यह सबसे बेहतरीन होस्टिंग मानी जाती है।

7. इसमे Administrative और रुट एक्सेस मिलता है।

DEDICATED होस्टिंग से क्या क्या नुकसान है

1. डेडिकेटेड वेब होस्टिंग बहुत ही खर्चीली होती है। इसका खर्च udhana हर किसी के बस की बात नहीं है।

2. जब dedicated होस्टिंग में प्रॉब्लम होती है तो उसे स्वयं ठीक नहीं किया जा सकता। उसके लिए स्पेशल technician की हेल्प लेनी पड़ती है।

3. इस होस्टिंग का use सभी नहीं कर सकते क्यों कि इसके लिए टेक्निकल नॉलेज का होना बहुत जरूरी है।

क्लाउड WEB HOSTING KYA HAI।

दोस्तों cloud होस्टिंग क्या है। cloud होस्टिंग उसे कहते है। जो बहुत से सर्वर के समूहों से रिसोर्स का उपयोग करती है। इसका मतलब यह है कि  वेबसाइट बहुत से सर्वर से वर्चुअल रिसोर्स प्राप्त करती है। इसे क्लस्टर ऑफ सर्वर भी कहा जाता है। इसमें सिक्योरिटी का ध्यान रखा जाता है। इस होस्टिंग में dawn टाइम नही के बराबर होता है।

क्लाउड होस्टिंग से क्या क्या फायदे हैं।

1. क्लाउड होस्टिंग कितना भी हाई ट्रैफिक हो उसे हैंडल कर लेती है।

2. क्लाउड होस्टिंग में dawn टाइम न के बराबर होता है।

3. इसकी स्पीड बढ़िया परफॉर्म करती है।

क्लाउड होस्टिंग से क्या क्या नुकसान हैं।

1. यह होस्टिंग बहुत ही महंगी होती है।

2. इसमे ROOT एक्सेस की सुविधा न के बराबर होती है।

crawl

WEB HOSTING KYA HAI IN HINDI. WEB HOSTING सर्वर क्या है हिंदी में।

दोस्तो इस आर्टिकल को में यहीं समाप्त करना चाहूंगा। इस आर्टिकल के थ्रू आप समझ ही गए होंगे ki वेब होस्टिंग क्या है जानिये हिंदी me  पूरी जानकारी WEB HOSTING KYA HAI. WEB HOSTING कैसे काम करती है। वेबहोस्टिंग कितने प्रकार की होती है। सबसे बेस्ट होस्टिंग कोन सी है। सबसे फ़ास्ट वेबहोस्टिंग कोंन सी है। सबसे महंगी वेब होस्टिंग को दी है। ये सभी में आपको इस आर्टिकल के द्वारा बता चुका हूं।

दोस्तों  आपको मेरा ये आर्टिकल पसंद आये तो दोस्तों व सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे। एवं आगे भी आनेवाली पोस्ट को पढ़ने के लिये इस वेबसाइट को अभी सब्सक्राइब कीजिये। जिससे आप किसी भी पोस्ट को पढ़ने से वंचित न रहें।

धन्यवाद।

Admin

7 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *