website duplicate content kya hai ise fix kaise kare -full guide in hindi

website duplicate content kya hai ise fix kaise kare -full guide in hindi

 website Duplicate Content Kya Hai  अगर आप भी यह जानना चाहते है तो आप बिल्कुल perfect पोस्ट read कर रहे है। How To Fix duplicate content in website full information in hindi. आज में आपको इस article में “Duplicate Content” के बारे में बताने जा रहा हूं।

 इस article में आपको website me Duplicate Content और इससे होनेवाले नुकसान को details में बतानेवाला  हूँ । इस पोस्ट में  आपको Duplicate Content चेक कैसे करे और इसे fix कैसे करे यह भी बताऊंगा। आपको Google की Help से Duplicate Content Guideline के बारे में पता कर लेना चाहिए।

वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी कैसे बढ़ाये 

Duplicate Content Kya Hai स्टेप by  स्टेप इन हिंदी|

जब एक  website का content  किसी दूसरे website पे कॉपी किया गया है तो  उसे Duplicate Content कहते है।

मतलब की सेम content different यूआरएल open होने में show होता हो वह  Duplicate Content की category में आता है।

Duplicate Content कभी कभी एक line का भी हो सकता है| और कभी कभी पूरा paragraph।  कभी तो ऐसा होता है कि पूरी वेबसाइट Duplicate Content की होती है।

अपनी वेबसाइट को प्रमोट किस करे |

Duplicate Content मतलब बहुत कुछ होता है | जैसे की

Website का image
Website का title
Website का description

ये सब भी अगर दो वेबसाइट में SAME हो तो भी Duplicate Content कहलाता है |

Duplicate content seo  पर विपरीत असर डालता है |

Duplicate Content issue से आपके website की ranking डाउन हो सकती है।

डुप्लीकेट कंटेंट से ब्लॉग के seo पर बुरा असर पड़ता है |

बाउंस रेट क्या है और इसे कैसे कम करे |

Google Panda Algorithm ऐसे content को check करता है|  जो दूसरे के content को अपने website में इस्तेमाल करते है|

 और वह website को penalized कर देता है। इसलिए आपको इस article के साथ ये भी जानना बहुत जरूरी है की Google के algorithms कितने है|  और वह सब किस तरह website को  penalty (Ranking Down) लगाते है।

 Google के एक survey से पता चला है कि internet पे जितने website है उसमे से 30% वेबसाइट Duplicate Content होते है।

  Search Engine मे top लार आने के लिए आपका 100% content unique होना चाहिए।

4 Best Free Duplicate Content Checker Tools का यूज़ करके आप कंटेंट को क्वालिटी कंटेंट बना सकते हो |

Content चेक करने के लिए internet पर बहुत सारि Duplicate Content चेकर tools है।

 top 4 Duplicate Content चेकर tools के बारे में details से बताया गया है।

बैंडविड्थ क्या है |

1.  Siteliner

Siteliner बेस्ट Duplicate content चेकर टूल्स है और यह मेरा फेवरेट है। यह tools आपके website के सारे pages को check करेगा। Simply आप अपने website का यूआरएल कॉपी करले और यहा add करे।

ये आपके पूरे website के content को check कर लेगा। इस duplicate content को कम करने का सबसे अच्छा tips यह है कि आप अपने blog मे एक landing page बनाले।

2. Duplichecker

Duplichecker भी एक free डुप्लीकेट content चेकर वेबसाइट है। इसमे आपको जो कंटेंट check करना है उसे पहले copy करले। उसके बाद check plagiarism बटन पे click करे।

वेबसाइट को bad लिंकिंग से कैसे बचाए |

आपके content का जो line दूसरे वेबसाइट पे match करता होगा वह show हो जाएगा। आप notepad में भी इस content को लिखकर इस tools में extract कर content चेक कर सकते है।

3. Small Seo Tools

Smallseotools यह भी Duplichecker की तरह सेम है। इस tool में आप 1000 words एक बार में check कर सकते है। जो paragraph डुप्लीकेट होगा वह Red colour में show होगा।

इस website में और भी seo से releted फ्री tools है। यहा आप फ्री में keyword position, broken लिंक्स, grammer, spelling चेकर फ्री tools का इस्तेमाल कर सकते है। small seo tool के बारे में जानने के लिए आप इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं |

small seo tools से ब्लॉग का SEO कैसे करे|

4.  Prepostseo

Prepostseo मेरा सबसे best tools है। content plagiarized है या नही यह आपको इस tool से पता चल जाएगा। इस tool का सब से best feature यह है कि ये वेबसाइट  proper  डुप्लीकेट कंटेंट को  शो करता है।

मैं  अक्सर content पब्लिश करने से पहले इस tools में अपने पूरे content को check करता हूं। अगर कोई line गलती से match कर देता है तो उसे change करदेता हूं।

Duplicate Content किसे कहते हैं |

New Blogger को seo के बारे में और google algorithm के बारे details से पता नही होता है। इसलिए वह दूसरे के content को copy करके अपने website में add करलेते है।

पर कुछ ऐसे भी Duplicate Content issue होते है, जिससे आपके website पे technical problem के कारण भी content duplicate हो जाते है।

on page seo क्या है | इसे इनक्रीस कैसे करे |

Manually डुप्लीकेट कंटेंट two type के होते है।

1.Internal Duplicate Content :

इसमे आपके site के content कुछ technical issue के कारण repeat होते है।

2. External Duplicate Content :

इसमे आलावा  site के कंटेंट another वेबसाइट पे add होते है।

3.Important Points For Duplicate Content :

Matt Cutts के मुताबिक अगर website में 20% से कम content डुप्लीकेट रहा तो ठीक है।

20% से ज्यादा content डुप्लीकेट हुआ तो आपकी site की रैंकिंग down हो सकती है।

SEO फ्रेंडली पोस्ट कैसे लिखे फुल गाइड |

आपके website पे कितने content डुप्लीकेट है Siteliner tools, Duplicate Content Checker Tools से पता करले।

अगर मानलो कि मेरी website का 5% content डुप्लीकेट है।

ऐसा नही है कि मैंने दूसरे website से content को copy किया है।

ये वह content होते है जो आपके हर page में common होते है।

जैसे कि,
आपके footer में जितने भी content होते है वह सारे सेम ही होते है। यह internal duplicate content में आता है।

आप इस type के content को duplicate होने से नही बचा सकते।

Note : आप content को duplicate होने से 100% बचा नही सकते पर इसे कम जरूर कर सकते है।

OFF PAGE SEO कैसे करे  स्टेप BY स्टेप |

Conclusion

Duplicate Content क्या है और इसे check कैसे करे यह article आपको कैसा लगा?

इन सब tips में आपको कौनसी information सब से अच्छी लगी हमे जरूर बताएं।

Duplicate Content से releted आपके पास कोई suggestion या कोई question हो तो नीचे comment box में जरूर बताएं।

अगर यह article आपको अच्छा लगा तो अपने social media पे जरूर share करे।

आप हमारे social media से connect होकर भी अपने blogging से releted questions सेंड कर सकते है।

यह article सच मे आपको अच्छा लगा तो हमे comment box में जरूर बताएं।

धन्यवाद

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *